OTP in hindi : क्या है? कैसे इस्तेमाल किया जाता है? इसके फायदे

In this article, we will get to know everything about OTP in Hindi in detail.

ऑनलाइन लेन देन करना हो या किसी वेबसाइट में sign up करना हो, यूजर प्रमाणीकरण (Authentication) की पुष्टि हेतु हमारे रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पर एक OTP आता है जिसे Enter करने के बाद ही हम आगे बढ़ पाते हैं।

पर क्या आपने कभी सोचा है प्रायः हम जिस OTP का इस्तेमाल करते हैं, या इसके बारे में सुनते हैं यह कैसे काम करता है।

यदि नहीं, तो आज हम इस लेख में आपको OTP क्या है? कैसे इस्तेमाल किया जाता है? इसके फायदे और OTP से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों आपको इस लेख में देने वाले हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं

OTP की फुल फॉर्म क्या है?

ओटीपी का संक्षिप्त नाम वन टाइम पासवर्ड होता है इसे one time pin भी कहा जाता है।

ओ.टी.पी क्या है? What is OTP in hindi

ओटीपी कैरेक्टर्स या नंबर से मिलकर बना एक पासवर्ड होता है, जो किसी यूजर को ऑनलाईन भुगतान करने, sign up के दौरान प्रमाणित करने के लिए एल्गोरिथ्म द्वारा randomly जनरेट किया जाता है।

OTP सामान्यतया 4 या 6 डिजिट का एक कोड होता है!

जो केवल एक ही login session के लिए वैध रहता है,

यदि समय सीमा (0 से 30 मिनट) के अंदर OTP दर्ज नहीं किया जाता तो वह ओटीपी काम नहीं करता। सुरक्षा की दृष्टि से देखा जाए तो पारंपरिक तरीकों की तुलना में वेरीफिकेशन हेतु ओटीपी एक फास्ट और सुरक्षित तरीका है।

इसका इस्तेमाल ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरह से किया जा सकता है।

ऑफलाइन जहां OTP रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS के माध्यम से भेजा जाता है, वही इंटरनेट पर वेबसाइट में sign in करते हुए, पैसे transfer करने के लिए OTP को नंबर या E-mail के माध्यम से ऑनलाइन भेजा जाता है। यह जानने के बाद की OTP क्या है,

आइए जानते हैं

किस तरह OTP सुरक्षा कवच के तौर पर किसी व्यक्ति, व्यवसाय के लिए लाभदाई होता है।

 

OTP कैसे सुरक्षित है? यह कैसे काम करता है?

मनुष्य द्वारा create किए जाने वाली Static पासवर्ड की तुलना में मशीन द्वारा जनरेट किया गया ओटीपी अधिक सुरक्षित होता है।

Static password को भूला जा सकता है और इसका पता लगाने के बाद किसी यूजर के विभिन्न अकाउंट्स के लिए इस पासवर्ड का उपयोग किया जा सकता ह। परंतु OTP में Two factor authentication की प्रक्रिया का पालन करना होता है।

जिसमें अकाउंट का सही पासवर्ड Enter करने के बाद भी एक कदम और पूरा करना होता है।

और यूजर OTP enter करने के बाद ही सफलता पूर्वक लॉगिन कर पाता है।

इस तरह ओटीपी सुरक्षा कवच के तौर पर काम करता है इसलिए जब आप ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करते हैं! तो बैंक अकाउंट, एटीएम कार्ड इत्यादि सभी जानकारियां होने के बावजूद भी पैसे भेजने से पूर्व आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आता है। इसी प्रकार जब आप किसी वेबसाइट में काफी समय बाद यूजरनेम और पासवर्ड डालकर लॉगिन करने की कोशिश करते हैं तो OTP से आपको वेरीफाई किया जाता है

आइए जानते हैं

 

OTP के उपयोग – Uses of OTP in Hindi

ओटीपी का इस्तेमाल आज किसी व्यवसाय में, बैंक तथा अनेक संस्थाओं द्वारा विभिन्न कार्यों के लिए किया जा रहा है!

ओटीपी का उपयोग मुख्यतः निम्न कार्यों के लिए किया जा सकता है

सुरक्षित लेन- देन के लिए Online लेन- देन करते हुए OTP का प्रयोग सर्वाधिक मात्रा में किया जाता है, यह लुटेरों, अपराधियों को अवैध लेन-देन करने से रोकता है।

Reset password :- पासवर्ड भूलने की स्थिति में ओटीपी का उपयोग दोबारा से एक नया पासवर्ड क्रिएट करने हेतु किया जाता है। इसलिए किसी अकाउंट का पासवर्ड भूलने के बाद एक One time password पासवर्ड आपकी मेल आईडी या मोबाइल पर भेजा जाता है।

यूजर्स को दोबारा से सक्रिय करने के लिए जब एक यूजर काफी लंबे समय बाद अपने किसी अकाउंट में लॉगिन करता है, तो उस यूजर की पुष्टि हेतु पहले एक OTP उसके रजिस्टर्ड मोबाइल य ईमेल पर भेजा जाता है जिससे उसकी पुष्टि की जा सके।एक अकाउंट को विभिन्न devices में इस्तेमाल करने के लिए यदि आप अपने mobile, computer, laptop इत्यादि विभिन्न devices में एक ही अकाउंट का इस्तेमाल करते हैं तो यूजर को वेरीफाई करने के लिए OTP का उपयोग किया जाता है।

जिससे आपके सभी devices एक account से सुरक्षित तौर पर लिंक हो जाते हैं।

Spammers& bots रोकने के लिए

कैप्चा कोड की तरह ओटीपी का इस्तेमाल 2 factor authentication की मदद से किसी ऑटो बोट को वेबसाइट में आने से रोकने या स्पैमर्स को स्पेमिंग करने से रोका जा सकता है।

Read more related posts

Youtube se paisa kese kamaye

Affiliate marketing se kamane ka poora tarika

Dailymotion se paisa kamana seekhe

Online paisa kamane ke kuch tarike

Seo kya hai Full Information In Hindi

Blog post kaise rank kaise karein

Hosting kya hoti hai

Domain name kya hota hai

एडसेंस क्या है 

Mobile number port kaise karen मोबाइल पोर्ट कैसे करें

Cheap and best phone under 10000 Rs

Brand name kaise banaye

Digital marketing kya hai

Free me website kaise banaye

Full website kaise banate hain

ओटीपी के फायदे – Advantages of OTP in Hindi

सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण OTP का उपयोग करने के कई फायदे हैं!

ओटीपी का इस्तेमाल करना फ्री है एक ग्राहक के तौर पर OTP का इस्तेमाल कर अपने अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए आपको कोई पैसा खर्च नहीं करना पड़ता है। इसकी जिम्मेदारी है उस वेबसाइट या बिजनेस की जिसकी आप सेवाएं ले रहे हैं। OTP किसी user की प्रमाणिकता करने में मदद करता है इससे स्पैमर, अपराधियों को किसी भी अकाउंट में लॉगिन करने से रोका जा सकता है।

इस आधुनिक जमाने में OTP एक secure तरीका होने के साथ-साथ फास्ट भी है।

कुछ ही सेकंड में OTP हमारे मोबाइल पर आ जाता है, जिसके बाद हम अपना कार्य आगे कर पाते है। हम अपने social media accounts में two factor authentication Enable करके OTP का इस्तेमाल कर अपने social accounts को और अधिक Secure बना सकते हैं।

सबसे बड़ा फायदा OTP का यह है कि सुरक्षा की एक्स्ट्रा Layer के तौर पर आपके अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए यह सुरक्षा कोड बेहद लाभदाई होता है ओटीपी के फायदों को जानकर एक मुख्य समस्या जिसका अक्सर सामना करना पड़ता है वह है मोबाइल पर OTP का ना आना,

आइए जानते हैं

 

मोबाइल पर ओटीपी ना आने के कारण? – Disadvantages of OTP in Hindi

पहला संभावित कारण यह है कि आपके मोबाइल नंबर पर रिचार्ज ना हो, जिस वजह से कई बार बैंक या अन्य कंपनियों का OTP नहीं पहुंच पाता। हो सकता है आपने मोबाइल में s.m.s. ब्लॉक किए हो, अगर ऐसा है तो आपके मोबाइल में कोई भी मैसेज नहीं आएगा और OTP भी आप तक नहीं पहुंच पाएगा

मोबाइल में नेटवर्क समस्या या Slow इंटरनेट की वजह से भी कई बार OTP नहीं पहुंच पाता है।

यदि उपरोक्त समस्या नहीं है, ऐसे में जिस संस्था, कंपनी का OTP आपके मोबाइल पर नहीं आ रहा है आप उनसे संपर्क कर सकते हैं।

तो साथियों इस लेख को पढ़ने के बाद OTP क्या है?

इसके फायदे और उपयोग आप भली भांति जान गए होंगे! अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो

आप इसे शेयर करना न भूलें!

Leave a Comment